SHAYARI- DILE BAYA



काश कोई लम्हा ऐसा भी आये
कि उसकी याद आए और वो आ जाये..!!



ताल्लुक हो, तो रूह का...रूह से हो,
दिल तो अक्सर, एक-दूसरे से भर जाया करते हैं..!!


ज़रूरी नहीं है ....इश्क में ......बांहो के सहारे ही मिले
किसी को जी भर के ....महसूस करना भी मोहब्बत है


थोड़ी थोड़ी ही सही मगर बातें तो किया करो,
चुप रहते हो तो भूल जाने का एहसास होता है..!!


जो मजा अपनी पहेचान के साथ जीने मे है ,
वो कीसी दूसरे की परछाई बनने मे नहि ..!!


जो लोग दर्द को समझते है...
वो लोग कभी भी दर्द की वजह नहीं बनते..!!


दरमियाँ फासले उनसे इस तरह बढ़ते गए
हम ज़रा धीमे चले वो कुलाचे भरते गए..!!


खामोशियों से मिल रहे, खामोशियों के जवाब,
अब कैसे कहूँ कि उनसे मेरी बात नहीं होती..!!


मिठास रिश्तों कि बढाए तो कोई बात बने..
मिठाईयाँ तो हर साल मीठी ही बनती है..!!


यादकरना और याद आना
दोनो अलग अलग बाते है
याद हम उन्हें करते है जो हमारे अपने है
और याद हम उन्हेआते हे जो हमे अपना समजते है..!!


रूबरू होने की तो छोड़िये,
गुफ़्तगू से भी क़तराने लगे हैं,
ग़ुरूर ओढ़े हैं....
रिश्ते अपनी हैसियत पर इतराने लगे हैं..!!


दुनिया देखते देखते,..कितनी बेगैरत हो गयी.
हम जरा सा क्या बदले सबको हैरत हो गयी..!!


ताल्लुक हो, तो रूह का...रूह से हो,
दिल तो अक्सर, एक-दूसरे से भर जाया करते हैं..!!


हमारी तडप तो कुछ
भी नहीं है हुजुर,
सुना है कि आपके दिदार के लिए
तो आइना भी तरसता है..!!


मुश्किल भी तुम हो, हल भी तुम हो ,
होती है जो सीने में , वो हलचल भी तुम हो ..!!


तुम हो तो यकीन है और
उस यकीन में यकीनन तुम हो..!!


मेरी हर बात पर वो हंस कर कहता है तु ραgαℓ है...
जबकि बनाने वाला वो खुद हैं...!!


उसको चाहा भी तो इज़हार ना करना आया
कट गई उमर हमे प्यार ना करना आया
उसने मांगा भी अगर कुछ, तो जुदाई मांगी
और एक हम थे के हमें इंकार ना करना आया..!!


छू ना सकूं आसमान तो ना ही सही,
आपके दिल को छू जाऊं बस इतनी सी तमन्ना है..!!


Recommended Post Slide Out For Blogger